प्रयागराज: उत्तर प्रदेश में अपात्र राशन कार्ड धारक योगी सरकार ने निशाने पर आ गए है। शासन के मुताबिक, अपात्र लोगों को फ्री राशन योजना का लाभ नहीं मिलना चाहिए। अपात्रों को राशन मिलने से पात्र लोग इस योजना से वंचित रह जा रहे हैं। वहीं अब इसके लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर राशन कार्ड सरेंडर करने और वसूली को लेकर भ्रामक पोस्ट वायरल किए जा रहे हैं।
वहीं इस संबंध में प्रदेश सरकार ने अवगत कराया है की सरकार की ओर से राशन कार्ड सरेंडर व वसूली का कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। सोशल मिडिया पर फर्जी भ्रामक पोस्ट वायरल किये जा रहे है। जिसको लेकर प्रदेश सरकार ने आदेश जारी किया। राशन कार्ड सरेंडर करने की खबर का खंडन।
उत्तर प्रदेश के खाद्य आयुक्त ने दिया आदेश। दिए आदेश में कहा गया कि राशन कार्ड सरेंडर का कोई आदेश नहीं दिया गया है। राशनकार्ड सत्यापन सामान्य प्रक्रिया है। निरस्तीकरण और रिकवरी का कोई आदेश नहीं है। राशनकार्ड पात्रता के मानकों में कोई बदलाव नहीं हुए है।कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि “जमीन होना, पक्का मकान, मुर्गी पालन- गौ पालन, शासन से पेंशन आदि” जैसे नियम लगाकर राशन कार्ड सरेंडर करवाना व वसूली की धमकी देना शर्मनाक है। महंगाई आसमान पर है व कमाई पाताल में, ऐसे में जरूरतमंदों पर ये गहरा आघात है। चुनावभर राशन वोट मशीन था, और अब इसे सरकार वसूली यंत्र बना रही है।

रिपोर्टर – ज़ाबिर अली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *